Indore Pitch: इंदौर पिच की रेटिंग को लेकर बीसीसीआई ने आईसीसी में अपील की है , अब 14 दिन के अंदर आएगा समिति का फैसला

You are currently viewing Indore Pitch: इंदौर पिच की रेटिंग को लेकर बीसीसीआई ने आईसीसी में अपील की है , अब 14 दिन के अंदर आएगा समिति का फैसला

बीसीसीआई अपील पर आईसीसी की सदस्यीय समिति जांच करेगी और 14 दिन के अंदर अपना फैसला सुनाएगी। इंदौर टेस्ट की पिच आईसीसी की तरफ से खराब रेटिंग दी गई थी।
विस्तार
इंदौर टेस्ट पिच की खराब रेटिंग को लेकर बीसीसीआई ने आईसीसी में औपचारिक अपील दायर कर दी है। मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन स्वामित्व वाले इंदौर के होल्कर स्टेडियम से जुड़े अधिकारी ने जानकारी दी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आईसीसी का दो सदस्यीय पैनल मामले में जांच के बाद आईसीसी के फैसले की समीक्षा करेगा और 14 दिन अंदर अपना फैसला सुनाएगा।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी सीरीज तीसरा टेस्ट इंदौर में तीन दिन के अंदर खत्म हो गया था। इस मैच शुरुआती दो दिनों में 30 विकेट गिरे थे। इस टेस्ट में 31 में से 26 विकेट स्पिन गेंदबाजों लिए थे। ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे दिन के पहले सत्र में यह मैच नौ विकेट से नाम किया था और सीरीज में बेहतरीन वापसी की थी।
अपनी रिपोर्ट मैच रेफरी ब्रॉड ने कहा था कि “पिच बहुत सूखी थी और बल्ले और गेंद बीच संतुलन प्रदान नहीं करती थी, शुरू से ही स्पिन गेंदबाजों मदद मिल रही थी। पूरे मैच के दौरान पिच अत्यधिक और असमान उछाल था”। ब्रॉड की खराब रेटिंग मतलब था कि यह मैदान अब तीन डिमेरिट हासिल कर चुका है। यह पांच साल की अवधि के लिए सक्रिय रहेगा। यदि दो और डिमेरिट अंक दिए जाते हैं, तो इस मैदान को 12 महीनों के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की मेजबानी से निलंबित कर दिया जाएगा।

पहले दो टेस्ट मैच रेफरी एंडी पाइक्रॉफ्ट ने नागपुर और दिल्ली में उपयोग जाने वाली सतहों को “औसत” करार दिया था। ये दोनों टेस्ट दिनों के भीतर समाप्त हो गए थे और भारत दोनों मुकाबलों में जीत हासिल की थी।

मैच रेफरी के पास पिच रेटिंग के लिए छह पैमाने होते हैं। बहुत अच्छी, अच्छी, औसत, औसत से नीचे, खराब और अयोग्य। औसत से कम रेटिंग खराब या अयोग्य पिच को ही डिमेरिट अंक दिए जाते हैं।
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट का तीसरा मुकाबला धर्मशाला में होना था, लेकिन बीसीसीआई की जांच समिति पाया कि यह मैदान सर्दियों टेस्ट मैच की मेजबानी के लिए तैयार नहीं है। धर्मशाला में कई हिस्सों पर पर्याप्त घांस नहीं थी। इसके बीसीसीआई ने एक मार्च को इस मैच की मेजबानी इंदौर को दे दी थी, जबकि मुकाबला 13 मार्च से शुरू होना था।

बोर्ड के लिए पिच रेटिंग के अपील करना असामान्य है, लेकिन यह पहला मामला नहीं है। पीसीबी ने हाल ही पिच की रेटिंग के खिलाफ अपील थी और अपील सफल रही थी। पिछले साल दिसंबर में इंग्लैंड और पाकिस्तान के हुए मैच के लिए रावलपिंडी की पिच को डिमेरिट अंक दिया गया था। मैच रेफरी पाइक्रॉफ्ट ने पिच को “औसत से नीचे” का दर्जा दिया था। इंग्लैंड यह टेस्ट 74 रन से जीता था। हालांकि, बाद में पीसीबी की अपील जांच हुई और यह डिमेरिट अंक हटा दिया गया। बीसीसीआई को भी ऐसी ही उम्मीद है।

Leave a Reply